कोरोना को हराने साथ आए सार्क देश, भारत ने दी $10000000 की मदद

भारत ने दी $10000000 की मदद
मोदी की पहल पर हुई एकजुट.... वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में बोले-चुनौती बड़ी, मगर अजय नहीं।।।।



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर कोरोना वायरस से लड़ने के लिए दक्षिण एशियाई देश साथ आ गए हैं। मोदी ने रविवार को सार्क देशों को कोरोना वायरस का आपातकालीन फंड बनाने का प्रस्ताव देते हुए कहा है कि तैयारी होनी चाहिए, दहशत नहीं। हम एक गंभीर चुनौती का सामना कर रहे हैं। अभी तक नहीं पता है कि आने वाले दिनों में महामारी कौन सा कर लेगी। ऐसे में हमें एकजुट होकर काम करना होगा। हम इसका सबसे अच्छा जवाब अलग रहकर नहीं एकजुट मिलकर दे सकते हैं। आपस में सहयोग होना चाहिए। भ्रम नहीं,पीएम ने इस फंड के लिए भारत की ओर से एक करोड डॉलर की शुरुआती पेशकश भी की।
पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कहा कि दुनिया की 20 फ़ीसदी आबादी वाले शार्क देशों में को रोना संक्रमण के मामले कम है। अब तक डेढ़ सौ केस आए हैं। सार्क देशों के बीच संपर्क बेहद अच्छा है। सभी एक दूसरे से गहराई से जुड़े हैं। उन्होंने कहा चुनौती बड़ी है मगर अजय नहीं। हमें मिलकर चुनौती से निपटने की तैयारी करनी चाहिए मिलकर लड़ना और जीतना होगा। पीएम मोदी ने कहा अंतिम बात यह कोई पहली या आखरी महामारी नहीं है जो हमें प्रभावी करेगी।।।

साझा रणनीति पर सहमति:
हम सभी सहमत हैं की ऐसी चुनौतियों से निपटने के लिए साझा रणनीति होनी चाहिए। हम सहयोगात्मक समाधान तलाशने के लिए भी सहमत है। हम अपनी जानकारियों, शानदार कार्य प्रणालियों, क्षमताओं और उपलब्ध संसाधनों को साझा करेंगे।-नरेंद्र मोदी, पीएम


सर्जरी के बावजूद शामिल हुए नेपाल के पीएम ओली:::
वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में श्रीलंका के राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे, भूटान के पीएम लौते शेयरिंग, बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना, मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम सालेह,
अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी शामिल हुए।। नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली सर्जरी के बावजूद शामिल हुए। पाकिस्तान की नुमाइंदगी स्वास्थ्य मंत्री जफर मिर्जा ने की।

सासु समुद्री जहाजों को नहीं दिया प्रवेश........ देश में 107 केस-
देश में कोरोनावायरस के रविवार को 23 नए मामले सामने आने की पुष्टि हुई है, जिसके बाद मरीजों का आंकड़ा 107 पहुंच गया। इसमें सबसे ज्यादा केस महाराष्ट्र में हैं। सरकार को रोना का प्रसार रोकने का हर संभव प्रयास कर रही है।इसी के तहत प्रभावित देशों की यात्रा करने वाले सांसों से ज्यादा जहाजों के 25000 से ज्यादा यात्रियों में चालक दल के सदस्यों को अपनी प्रमुख बंदरगाह पर उतरने नहीं दिया गया। पाकिस्तान स्थित करतारपुर साहिब की यात्रा भी स्थगित कर दी गई है।
23 नए मामले, करतारपुर साहिब की यात्रा स्थगित.....
जहाजरानी मंत्रालय के मुताबिक, शुक्रवार तक चीन व प्रभावित देशों से 703 जहाज भारतीय तटों पर पहुंचे, जिसमें 25504 यात्री और चालक दल के सदस्य थे।इसमें से किसी यात्री को उतरने नहीं दिया गया। अंतरराष्ट्रीय कुज के भारत में प्रवेश पर 31 मार्च तक पहले ही रोक लगा दी थी।।
Reactions

Post a Comment

0 Comments