Maa shailputri Status : Maa shailputri स्टेटस,स्टोरी,quotes

Maa shailputri Status : Maa shailputri  स्टेटस,स्टोरी,quotes


navratri first day

navratri first day


 

 कृपा जिनकी मेरे ऊपर तेवर भी उन्हीं का वरदान है

शान से जीना सिखाया जिसने “मां शैलपुत्री” उनका नाम है!


मैनें तेरा नाम लेके ही सारे काम किये है मां शैलपुत्री

और लोग समजतें है की बन्दा किस्मत वाला है 

 ____________________________________________

यह भी पढे⬇️⬇️⬇️

__________________________________________________________

shailputri

shailputri

shailputri


🚩हवाओं में गजब का नशा छा गया,🚩

🚩लगता है माता का त्यौहार आने वाला है।

🚩#जय मां शैलपुत्री🚩🚩

ना गिन के दिया ना तोल के दिया”,

“मेरे माता ने जिसे भी दिया दिल खोल के दिया”

।। जय मां शैलपुत्री।।


 सबसे बड़ा तेरा दरबार है, तू ही सब का पालनहार है

सजा दे या माफी मां , तू ही हमारी सरकार है....

जय मां शैलपुत्री

 

shailputri maa

shailputri maa

shailputri maa



भाव का भोग लगाती हूँ

मन रुपी आसन बिछाय

विराजो विश्व प्रथम देवी

हो जाओ सब पर सहाय



देवी मां के कदम आपके घर में आएं,

आप खुशी से नहाएं

परेशानियां आपसे आंखें चुराए

नवरात्रि की आपको ढेरों शुभकामनाएं

रक्षा करो मां शैलपुत्री हम मानव है।असहाय 

नष्ठ करो कोरोना दैत्य को हो जाओ सृष्टि सहाय।।

 ____________________________________________

यह भी पढे⬇️⬇️⬇️

____________________________________________

first navratri

 

first navratri

first navratri


ऐ अंधेरे देख तेरा मुंह काला हो गया।।

मां ने आंखें खोली और घर में उजाला हो गया।।

जय माँ शैलपुत्री🙏😇

ममता के मंदिर की है तू सबसे प्यारी मूरत

भगवान नज़र आता है जब देखूं तेरी सूरत


पहाड़ों मैं वास है। आपका

करती हो आप वृषभ कि सवारी।।

सदा बनी रहे कृपा आपकी

बस इतनी विनती है मां शैलपुत्री हमारी।।


navratri status

 ____________________________________________

यह भी पढे⬇️⬇️⬇️

____________________________________________

first navratri navratri status

navratri status

 

शिव की हो तुम अर्द्धांगिनी।।

शैलराज हिमालय की पुत्री हो प्यारी,

नवदुर्गा का पहला रूप तुम्हारा,

मां शैलपुत्री तुम हो प्यारी।।


देवी मां के कदम आपके घर में आएं,

आप खुशी से नहाएं

परेशानियां आपसे आंखें चुराए

नवरात्रि की आपको ढेरों शुभकामनाएं

।। जय माता दी ।



 माँ तुमसे विश्वास ना उठने देना,

तेरी दुनिया में भय से जब सिमट जाऊं,

चारो ओर अँधेरा ही अँधेरा घना पाऊं,

बन के रोशनी तुम राह दिखा देना..!

 

 

navratri special status

____________________________________________

यह भी पढे⬇️⬇️⬇️

__________________________________________________________

navratri special status

navratri special status



माँ की ज्योति से नूर मिलता है

सब के दिलो को सुरूर मिलता है

जो भी जाता है माँ के द्वार

कुछ न कुछ जरूर मिलता है



हमारी ताकत का अंदाजा हमारे जोर से नही

दुश्मन के शोर से पता चलता है

बोलो माता रानी की जय

जय माता दी



सारी रात माँ के गुण गायें

माँ का ही नाम जपें

माँ में ही खो जाएँ

जय माता दी

तन की जाने, मन की जाने, जाने चित की चोरी उस मां शैलपुत्री से क्या छिपावे जिसके हाथ है सब की डोरी 🌺🌺 जय मां शैलपुत्री 🌺🌺


navratri whatsapp status

 

navratri whatsapp statusnavratri whatsapp status

navratri whatsapp status



🚩काल का भी उस पर क्या आघात हो …. जिस बंदे पर मां शैलपुत्री का हाथ हो..!!🕉🚩🙏


मां शैलपुत्री की बनी रहे आप पर छाया,

पलट दे जो आपकी किस्मत की काया;

मिले आपको वो सब अपनी ज़िन्दगी में,

जो कभी किसी ने भी न पाया! 


🌺🙏🌺माँ शैलपुत्री🌺🙏🌺


माँ दुर्गा का प्रथम रूप तुम

शिव भार्या, शक्ति स्वरूप तुम,

पर्वतराज हिमालय के घर

प्रकट भई पुत्री स्वरूप तुम।


शैलपुत्री और हेमवती तुम

उमा, भगवती, पार्वती तुम,

योगाग्नि में भस्म किया तन

पूर्वजन्म में सती हुई तुम।


durga maa status

durga maa status

durga maa status



वृषभ बनायो तुमने वाहन

कमल, त्रिशूल कियो तुम धारण,

मूलाधार चक्र की सारी

कष्ट व्याधियों की तुम तारण।

पशुता भाव ह्रदय न आए

स्वार्थ, लोभ भी तनिक न भाए,

आधार चक्र मजबूत करो तुम

बीमारी कोई छू न पाए।


चंद्रदोष को शांत करो तुम

जग के सारे कष्ट हरो तुम,

तिमिर पूर्ण है ह्रदय सभी का

उसमे प्रेम प्रकाश भरो तुम।


माँ दुर्गा का प्रथम रूप तुम

शिव भार्या, शक्ति स्वरूप तुम।।

 

 

mata rani ke status


mata rani ke status

mata rani ke status



माँ शैलपुत्री आरती

शैलपुत्री मां बैल असवार

करें देवता जय जयकार ।।


शिव शंकर की प्रिय भवानी

तेरी महिमा किसी ने ना जानी ।।

पार्वती तू उमा कहलावे

जो तुझे सिमरे सो सुख पावे ।।


ऋद्धि-सिद्धि परवान करे

तू दया करे धनवान करे तू ।।


सोमवार को शिव संग प्यारी

आरती तेरी जिसने उतारी ।।


उसकी सगरी आस पुजा

दो सगरे दुख तकलीफ मिला दो ।।


घी का सुंदर दीप जला के

गोला गरी का भोग लगा के ।।


श्रद्धा भाव से मंत्र गाएं

प्रेम सहित फिर शीश झुकाएं ।।


जय गिरिराज किशोरी अंबे

शिव मुख चंद्र चकोरी अंबे ।।


मनोकामना पूर्ण कर दो

भक्त सदा सुख संपत्ति भर दो ।।

maa shailputri story


happy navratri 2020 images for whatsapp navratri whatsapp dp

maa shailputri story



मां शैलपुत्री की कहानी 


मां शैलपुत्री सती के नाम से भी जानी जाती हैं। इनकी कहानी इस प्रकार है - एक बार प्रजापति दक्ष ने यज्ञ करवाने का फैसला किया। इसके लिए उन्होंने सभी देवी-देवताओं को निमंत्रण भेज दिया, लेकिन भगवान शिव को नहीं। देवी सती भलीभांति जानती थी कि उनके पास निमंत्रण आएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। वो उस यज्ञ में जाने के लिए बेचैन थीं, लेकिन भगवान शिव ने मना कर दिया। उन्होंने कहा कि यज्ञ में जाने के लिए उनके पास कोई भी निमंत्रण नहीं आया है और इसलिए वहां जाना उचित नहीं है। सती नहीं मानीं और बार बार यज्ञ में जाने का आग्रह करती रहीं। सती के ना मानने की वजह से शिव को उनकी बात माननी पड़ी और अनुमति दे दी।

सती जब अपने पिता प्रजापित दक्ष के यहां पहुंची तो देखा कि कोई भी उनसे आदर और प्रेम के साथ बातचीत नहीं कर रहा है। सारे लोग मुँह फेरे हुए हैं और सिर्फ उनकी माता ने स्नेह से उन्हें गले लगाया। उनकी बाकी बहनें उनका उपहास उड़ा रहीं थीं और सति के पति भगवान शिव को भी तिरस्कृत कर रहीं थीं। स्वयं दक्ष ने भी अपमान करने का मौका ना छोड़ा। ऐसा व्यवहार देख सती दुखी हो गईं। अपना और अपने पति का अपमान उनसे सहन न हुआ...और फिर अगले ही पल उन्होंने वो कदम उठाया जिसकी कल्पना स्वयं दक्ष ने भी नहीं की होगी।

सती ने उसी यज्ञ की अग्नि में खुद को स्वाहा कर अपने प्राण त्याग दिए। भगवान शिव को जैसे ही इसके बारे में पता चला तो वो दुखी हो गए। दुख और गुस्से की ज्वाला में जलते हुए शिव ने उस यज्ञ को ध्वस्त कर दिया। इसी सती ने फिर हिमालय के यहां जन्म लिया और वहां जन्म लेने की वजह से इनका नाम शैलपुत्री पड़ा।

शैलपुत्री का नाम पार्वती भी है। इनका विवाह भी भगवान शिव से हुआ

मां शैलपुत्री का वास काशी नगरी वाराणसी में माना जाता है। वहां शैलपुत्री का एक बेहद प्राचीन मंदिर है जिसके बारे में मान्यता है कि यहां मां शैलपुत्री के सिर्फ दर्शन करने से ही भक्तजनों की मुरादें पूरी हो जाती हैं। कहा तो यह भी जाता है कि नवरात्र के पहले दिन यानि प्रतिपदा को जो भी भक्त मां शैलपुत्री के दर्शन करता है उसके सारे वैवाहिक जीवन के कष्ट दूर हो जाते हैं। चूंकि मां शैलपुत्री का वाहन वृषभ है इसलिए इन्हें वृषारूढ़ा भी कहा जाता है। इनके बाएं हाथ में कमल और दाएं हाथ में त्रिशूल रहता है।



Reactions

Post a Comment

0 Comments